"I am here putting my personal experience and few good tips collecting from market wide. I am not responsible for any kind of loss arising out of any information, posts or opinion appearing on this blog. Thank You Friends"

 

बाजार में पिछले कई महीनों से जोरदार तेजी का रुझान बना हुआ है और सेंसेक्स-निफ्टी लगातार नए रिकॉर्ड बनाते जा रहे हैं। लेकिन क्या ये तेजी आगे भी जारी रहेगी या अब निवेशकों को सतर्क हो जाना चाहिए, यही जानने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ ने शुरू की है खास सीरीज लाइफ एट लाइफ हाई। इसी कड़ी में सीएनबीसी-आवाज़ के मार्केट एडिटर अनिल सिंघवी ने बात की, बाजार के जाने-माने दिग्गज और एसबीआई म्युचुअल फंड के सीआईओ नवनीत मुनोत से।
नवनीत मुनोत का मानना है कि बाजार में तेजी अभी बनी रहेगी। हाल की तेजी में घरेलू निवेशकों को ज्यादा फायदा मिला है। पिछले 3 साल से बाजार में घरेलू फंड्स का निवेश बढ़ रहा है। ग्रोथ और रिटर्न के लिहाज से आने वाले साल बेहतर रहने वाले हैं। घरेलू बाजार में निवेश के अब भी काफी मौके हैं। निवेश के विकल्प के तौर पर कई नए सेक्टर में मौके हैं। लंबी अवधि के लिहाज से देंखें तो बाजार में अभी भी निवेश का अच्छा मौका बनता है।
नवनीत मुनोत ने आगे कहा कि जोरदार तेजी के बाद 5-10 फीसदी गिरावट के लिए तैयार रहना चाहिए। निवेश के लिए भारत काफी बेहतर है। देश में आर्थिक हालात स्थिर होने पर निवेश और बढ़ेगा। विदेशी निवेशकों ने इस साल अच्छा निवेश किया है क्योंकि दूसरे देशों के मुकाबले भारत में निवेश का माहौल बेहतर है।
नवनीत मुनोत के मुताबिक बाजार में आगे और तेजी दिखेगी। अभी तक इंडेक्स के मुकाबले फंड्स के रिटर्न काफी ज्यादा रहे हैं। देश में ब्याज दरें स्थिर रहने पर इक्विटी में निवेश बढ़ेगा। दूसरे एसेट के मुकाबले इक्विटी में ज्यादा रिटर्न भी मिलेगा।
विदेशी निवेशकों  के नजरिये पर बात करते हुए नवनीत मुनोत ने कहा कि पिछले 4 महीनों में एफआईआई ने काफी निवेश किया है। अगले कई सालों के लिए एफआईआई भारत पर बुलिश हैं। बाजार पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि छोटे-मझोले शेयरों में ज्यादा रिटर्न मिला है। ग्रोथ तेज होने पर कंपनियों को क्षमता विस्तार का फायदा मिलेगा और लागत काबू में रहने पर मुनाफा तेजी से बढ़ेगा।
इकोनॉमी और बाजार पर जीएसटी का कितना असर होगा? इस सवाल पर नवनीत मुनोत ने कहा कि बाजार में हर गिरावट में खरीद का अच्छा मौका है। जीएसटी आने पर शुरुआत में कुछ परेशानी हो सकती है लेकिन जीएसटी आने के 2-3 महीने बाद हालात सुधर जाएंगे।
नवनीत मुनोत के मुताबिक बाजार में छोटी अवधि में उतार-चढ़ाव आ सकता है लेकिन लंबी अवधि की तेजी के लिए माहौल बना हुआ है। आगे कंपनियों का प्रदर्शन बेहतर होने की उम्मीद है। सरकार का निवेश बढ़ने पर हालात सुधरेंगे। महंगाई कम रहने पर ब्याज दरें स्थिर रहेंगी। जीएसटी से महंगाई बढ़ने की संभावना नहीं है। इक्विटी में निवेश और रिटर्न बढ़ने की उम्मीद है। नए निवेशकों के लिए एसआईपी का रास्ता बेहतर रहेगा। उन्होंने ये भी कहा कि लिक्विडिटी ज्यादा होने से अभी बड़ी गिरावट आने की उम्मीद नहीं है।
नवनीत मुनोत का मानना है कि फार्मा और आईटी में चुनिंदा शेयरों में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। कुछ फार्मा कंपनियों में चिंताएं अब भी बनी हुई हैं। आगे आईटी बजट बढ़ने से आईटी कंपनियों को फायदा होगा वहीं कंज्यूमर शेयरों में अब भी निवेश का अच्छा मौका है। निवेश के नए सेक्टर पर बात करते हुए नवनीत मुनोत ने कहा कि डिजिटल सर्विसेज से जुड़ी कंपनियों में आगे अच्छी ग्रोथ देखने को मिल सकती है। 

Post a Comment

 
Top